hindi friendship shayari

कोई तो खरियत बता दे मुझे,

के कैसे हैं मेरे यार के मिजाज़.

याद बहुत आ रही है,

पंहुचा दो उसके दिल तक मेरी आवाज़.

अ हवा जा जरा पंहुचा दे मेरा पैगाम, 

बिन उसके आये ना आराम.

के याद तुझे करता है वो बहुत,

जा के बतलाना उसको मेरा नाम.

हल ऐ दिल उसको बतलाना,

संग ये भी मेरे यार से पूछ आना.

जिसने तुझे याद किया,

क्या तेरे होठों पर भी आया उसका नाम.

बहुत प्यारा है ये आपना रिश्ता,

मरते दम तलक रखेगे ये राज़.

याद बहुत आ रही है,

पंहुचा दो उसके दिल तक मेरी आवाज़.

कोई तो खरियत बता दे मुझे……..

है बहुत परवाह मुझे,

हर घड़ी उस यार का ख्याल है.

उसके लिए जीते मरते हैं,

के दोस्ती का ये सवाल है.

नश नश में समाया है वो,

मेरी रूह में बस गया है.

किसी ने देखा ना ऐसा याराना,

ये दोस्ती बेमिसाल है.

चाहे कोई कुछ भी कहे,

मगर उसकी दोस्ती पर है मुझे नाज़.

याद बहुत आ रही है,

पंहुचा दो उसके दिल तक मेरी आवाज़.

कोई तो खरियत बता दे मुझे……..

Categories: Friendship

0 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *