हिंदी शायरी

दिल के चश्म से यार तेरा दीदार करू,

तेरे चेहरे की चांदनी का इंतजार करू।  

नैनो में तेरे जो नूर मिटा दे अँधेरा,

यार अब मैं उस घड़ी का इंतजार करू।।

दिल के चश्म से……………………….

भीगी थी आँखे मेरी देख तुझे मुस्काये,

खिदमत तेरी के चैन ओ सुकूं  राश आये। 

तुमसे मिलने की है तमन्ना बहुत,

मुकमल हो जाये जो अरमान दिल में बसाये।।

टूटे ना कभी  मेरा ये सपना,

गर कह दो तुम तो मैं एतबार करू।

नैनो में तेरे जो नूर मिटा दे अँधेरा,

यार अब मैं उस घड़ी का इंतजार करू।।

दिल के चश्म से……………………….

बस यार मुझे एक तेरा सहारा है,

तुम सा और ना कोई प्यारा है। 

साथ तेरा छूटे ना, नाता  ये टूटे ना,

रूठ ना जाये नादाँ ये दिल हमारा है। . 

तेरे सिवाये कोई और ना भाये,

हर ख़ुशी को मैं इंकार करू।  

नैनो में तेरे जो नूर मिटा दे अँधेरा,

यार अब मैं उस घड़ी का इंतजार करू।।

दिल के चश्म से……………………….

Categories: Romantic

2 Comments

ranu · September 17, 2019 at 1:24 pm

good one..

ranu · September 17, 2019 at 1:25 pm

heart touching..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *