ढलने लगी है रात, बहने लगी है पवन, 

ख्वाबो के मालिक तुम, ढूंढने लगे नयन। 

खुशबू अपनी भर जाना मेरे ख्वाबो में,

महका दो तुम मेरे ख्वाबो का गुलशन।। 

Categories: Good Night

0 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *