उसकी एक आहट से जी में जी आता है। 

तड़पता दिल ये कुछ पल सुकूं पाता है। 

 

कैसे मनाऊ उसे, पास बुलाऊ उसे। 

आरजू के दिल का हाल सुनाऊ उसे। 

जाने क्यू उसके सिवाय कोई ना भाता है। 

उसकी एक आहट से जी में जी आता है। 

 

काश उसे मेरा ख्याल आ जाये। 

प्यार मेरा उसे यार भा जाये। 

क्यू खफ़ा है मुझसे, ना यार बताता है। 

उसकी एक आहट से जी में जी आता है। 

 

मेरे भी होठों की हसीं लौट आती। 

संग उसके ये ज़िंदगी खूब भाती। 

मगर जाने क्यू वो मुझे इतना तड़पता है। 

उसकी एक आहट से जी में जी आता है। 

 

Click here for video


1 Comment

rajesh · December 8, 2018 at 1:48 pm

very nice

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *